RSS और ATOM का उपयोग क्या हें?

वेबसाईटमें उपलब्ध RSS और ATOM का उपयोग क्या हें?

 आज ईन्टरनेटका उपयोग दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा हें, और साथ साथ लोग दिनचर्या में महत्वकी और गंभीर प्रवृत्ति के रूप में भी स्वीकरने लगें हें. लोग ईन्टरनेट और वेबसाईट उपर उपलब्ध जानकारी का योग्य उपयोग कर रहें हें. ऐसेमें वेबसाईट प्रोवाईडरो द्वाराभी सुचना के साथ साथ लोग अधिक सरलता और सहुलियतसे सर्विस का उपयोग कर शके, ऐसे फीचर्स भी वेबसाईट पर देने लगें हें. और उसमेंसे ही आजकाल जिस सर्विस का अधिक से अधिक उपयोग लोग कर रहें हें वैसी RSS और ATOM फीड के विषय में अधिक जानते हें.

RSS यानि RealSimple Syndication. यह एक प्रकारकी वेब फीड हें जिसके द्वारा युझर्स वेबसाईट पर टाईम टु टाईम होती अपडेट की जानकारी जान सकतें हें. इस सर्विस का सबसे बड़ा फायदा समय बचाव और सरलता हें. RSS मुख्यत: ब्लोग अपडेट्स, न्यूझ हेडलाईन्स के पोडकास्टींग के लिए अधिक उपयोगी होता हें. यह सर्विस युझर्सको अपनी पसंद की वेबसाईट और उसकीं महत्वकी जानकारी को फिल्टर करके अपडेट करती हें. RSS में मुख्यत:लेख द्वारा अपडेट मलती हें जबकि उससे ऊपर की टेकनोलोजी ATOM में लेख के साथ साथ मल्टीमिडीया की फाईल भी आपको मिलती हें. इस सुविधा का उपयोग ब्लॉग अग्रीगेटर के लिए किया जाता हें.


RSS का उपयोग करने के लिए अलग अलग सोफ्टवेर होते हें जिसे फीड रीडर्स कहते हें. ये सोफ्टवेर अलग अलग वेबसाईटे ओफर करती हें. वैसे ही गूगल और याहूमें तो उसके ई-मेल सर्विस में ही RSS रीडर्सकी सुविधा दी गई हें. जिसमें RSS नामके विभागमें आपको अपनी पसंदगीकी RSS या ATOM फीड (लिंक)जोड़ कर रेग्युलर उससे अपडेट रही सकते हें. सोफ्टवेरमें फीड डालने के बाद आपको प्रतिदिन अलग अलग वेबसाईट पर जाना नहीं पडता बल्की सोफ्टवेरमें ही अलग अलग वेबसाईटकी RSSफीडसे माहिती ले सकते हें. जो सोफ्टवेर कम्प्यूटरको ईन्स्टोल न करना हो तो ई-मेल सर्विस में उपलब्ध इस सर्विस का उपयोग कर सकते हें.

RSSनो उपयोग किस प्रकार करें
·
पसंदगीकी वेबसाईटमें RSSकी लिंक ओपन करो
·
पसंदगीके विभागो, न्यूझ और जानकारियो की RSS लिंक उपर क्लिक करो
·
ब्राउझरके एड्रेस बारमेसे .RSS या .XMLएक्सटेन्शन वाळी लिंक कोपी करके आपके फीड रीडर सोफ्टवेरमें पेस्ट करे
· उसके
बाद ओटोमेटीकली माहिती टाईम टु टाईम अपडेट होती हें जिसे आप देख सकते हो.
·
फीड रीडर्स सोफ्टवेरमें आर्टिकल के हिडर के साथ संछिप्त लेख देखने मिलता हें जिसके उपर क्लिक करके पूरा आर्टिकल पढ़ सकते हें.

RSS का
उपयोग किसके लिए होता हें.
·
ब्लोगमें होती नियमित एन्ट्रीसे अपडेट रहने के लिए
·
पसंदगीके न्यूझ वेबसाईट उपर अपडेट होने के साथ ही जानजे के लिए
· अलग अलग विषय अनुसार जानकारी नियमित रूप से लेने के लिए
. ब्लॉग अग्रीगेटर के लिए

RSS
फीड रीडर्स सोफ्टवेर की वेबसाईट
· http://www.illumio.com/
· http://reader.google.com/
· http://www.rssreader.com/download.htm
· http://www.feedreader.com/
RSS रीडर्स सोफ्टवेरकी वेबसाईटकी के लिए
· htthttp://www.dmoz.org/Computers/Software/Internet/Clients/Web/


4 comments:

मनोज कुमार ने कहा…

इस विषय में जानकारी बिल्कुल ही नहीं थी।
आभार इस आलेख के लिए।

पंडित दयानन्द शास्त्री ने कहा…

आपका आभार/ धन्यवाद भाई जी,..आपने मेरे चक्षु खोल दिए यह जानकारी देकर..वर्ना में तो केवल...ब्लॉग लिखता चला जा रहा था जी..थेंक्स यू प्रभु जी...आगे भी ज्ञान देकर मार्गदर्शन करते रहिएगा...पुनः आभार/ स्वागत/ आभार..आपका अपना--पंडित दयानंद शास्त्री

पंडित दयानन्द शास्त्री ने कहा…

Contact No. : 09024390067;; 09413103883

Postal / Communication Address :----

Pt. Dayananda Shastri,
(Editor- Vinayak Vastu Times )
(R.N.I. No.:- RAJHIN/2008/25671)
Vinayak vastu Astro Shodha Sansthan,
Near Old Power House, Kasera Bazar,
JHALRAPATAN CITY (RAJ.) 326023 INDIA
===============================================
E-Maii:- vastushastri08@gmail.com;vastushastri08hotmail.com;
-dayanandashastri@yahoo.com; vastushastri08@rediffmail.com;
================================================
Blogs-- 1.- http://vinayakvaastutimes.mywebdunia.com//;;;;
--- 2.- https://vinayakvaastutimes.wordpress.com///;
--- 3.- http://vinayakvaastutimes.apnimaati.com//;;
---4.- http://www.mediaclubofindia.com/profile/PtDAYANANDASHASTRI ;;

बेनामी ने कहा…

BAHUT BADIYA JANKARI

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
| More

हिंदी में लिखें

विजेट आपके ब्लॉग पर